होम लोन का बीमा कराने से बेहतर टर्म प्लान खरीदना »
Jobs In Chhattisgarh 2021

होम लोन का बीमा कराने से बेहतर टर्म प्लान खरीदना

घर खरीदने के लिए बैंक से होम लोन लेते हैं तो वह उसका बीमा कवर लेने की भी पेशकश करते हैं। इसे होम लोन प्रोटेक्शन प्लान  कहा जाता है। कर्ज चुकाने की अवधि में बीमाधारक के साथ कुछ अनहोनी होने की स्थिति में बकाया राशि की भरपाई बीमा से होती है। हालांकि, बीमा विशेषज्ञों का कहना है कि होम लोन का बीमा खरीदना घाटे का सौदा है। इसके मुकाबले कम प्रीमियम में टर्म प्लान लेना फायदे का सौदा है।

* 05 साल के लिए ही होम लोन का बीमा पॉलिसी देती हैं बीमा कंपनियां
* 20 से 30 साल के लिए टर्म प्लान ले सकते हैं

https://www.cgjobs24.com/archives/1379

Home Loan News, Home Loan की ताज़ा

Home Loan Interest Rates 2020, Compare Home Loan Rates

https://www.cgjobs24.com/archives/1253

महंगा पड़ता है होम लोन का बीमा खरीदना
जब आप होम लोन लेते हैं बैंक उसकी पूरी राशि का बीमा कवर लेने को कहते हैं। सामान्यत: इसका प्रीमियम एक बार में ही चुकाना होता है। ऐसे में आप 25 लाख रुपये के होम लोन का बीमा कराते हैं तो प्रीमियम की राशि भी होम लोन में जोड़ ली जाती है। इससे ईएमआई भी बढ़ जाती है। साथ ही सिर्फ होम लोन का कवर होने की वजह से कर्ज की राशि घटने के साथ बीमा कवर भी घटता जाता है। इससे दोहरा नुकसान होता है। ऐसे में आप होम लोन पर ब्याज चुकाने के साथ बीमा कवर की खातिर लिए गए कर्ज के प्रीमियम पर भी ब्याज भरते हैं।

https://www.cgjobs24.com/archives/1358

ICICI Home Loan Interest Rates Jan 2020 @ 8.25% – Wishfin

परिवार को चुकाना पड़ सकता है कर्ज
होम लोन बीमा तीन तरह के होते हैं। इनमें सबसे पहला है घटता कवर प्लान। इसमें बकाये कर्ज में कमी के साथ बीमा कवर भी घटता जाता है। इसके अलावा इसमें अन्य मुश्किलों का भी सामना करना पड़ सकता है। उदाहरण के लिए आपने होम लोन 8.50% ब्याज पर लिया लेकिन दरें बाद में बढ़ जाती हैं। ऐसी स्थिति में कर्ज लेने वाले व्यक्ति की कर्ज चुकाने की क्षमता घट जाएगी और बकाया पहले के मुकाबले अधिक हो जाएगा। बीमा कवर घटने वाली पॉलिसी होने के मामले में यदि कर्जदार की असामयिक मृत्यु हो जाए तो बीमा कवर बकाये कर्ज से कम हो सकता है। ऐसे में परिवार को कर्ज चुकाना पड़ सकता है।

Home Loans Interest Rates (Current) – Interest Rates – SBI

टर्म प्लान से ज्यादा प्रीमियम
होम लोन बीमा में दूसरा विकल्प कंपनियां फिक्स्ड कवर प्लान का देती हैं। इसमें बीमित राशि में बदलाव नहीं होता है। तीसरा विकल्प हाइब्रिड प्लान का है। इसमें बीमित राशि कुछ वर्षों तक तय यानी फिक्स होती है और उसके बाद घटने लगती है। होम लोन बीमा का एक नुकसान यह भी है कि इसका पूरा प्रीमियम आप पहले चुका देते हैं। ऐसे में आपके पास कुछ भी बदलाव करने का विकल्प नहीं रहता है। वहीं टर्म प्लान में प्रीमियम सस्ता और बीमा कवर ज्यादा होता है। आप पांच हजार रुपये में 50 लाख रुपये तक का टर्म प्लान खरीद सकते हैं।

SBI Home Loan: Current Interest Rate @ 7.90% Lowest in Jan

ICICI Home Loan Interest Rate – Apply ICICI Bank home loan

बैंक बदलने पर बीमा कवर खत्म
होम लोन बीमा केवल महंगा ही नहीं होता बल्कि इसके अन्य नुकसान भी हैं। आप अपना कर्ज दूसरे बैंक में स्थानांतरित (स्विच) कराते हैं या इसका समय से पहले भुगतान कर देते हैं तो आपको प्रीमियम के किसी भी हिस्से का पैसा वापस नहीं लौटाया जाएगा। इसके अलावा दूसरे बैंक में कर्ज स्विच करने पर बीमा कवर भी उसी समय खत्म हो जाता है और दोबारा नए बैंक से नया बीमा खरीदना पड़ सकता है।

close